भगवान

माता लक्ष्मी (Mata Lakshmi)

देवी लक्ष्मी : धन और समृद्धि की देवी Devi Lakshmi सनातन धर्म (Sanatan Dharma) में देवी लक्ष्मी (Devi Lakshmi) को धन और समृद्धि की देवी (goddess of prosperity) माना जाता है। कहा जाता है कि उनकी दिव्य उपस्थिति उनके भक्तों के जीवन में सौभाग्य, सफलता और प्रचुरता लाती है। अपनी सुंदरता के लिए जानी जाने वाली देवी लक्ष्मी को अक्सर खिले हुए कमल पर बैठे या ख

माता पार्वती (Mata Parvati)

देवी पार्वती (Goddess Parvati) हिंदू पौराणिक कथाओं में देवी पार्वती (Devi Parvati), ब्रह्मांड की दिव्य मां के रूप में पूजी जाती हैं। उन्हें उमा, गौरी और शक्ति जैसे विभिन्न नामों से भी जाना जाता है। लोक कथाओं में उन्हें 1 हजार से ज्यादा नाम हैं। वो लक्ष्मी और सरस्वती के साथ त्रिदेवी के रूप में पहचानी जाती हैं। माता पार्वती भगव

माँ वैष्णो देवी (Maa Vaishno Devi)

माँ वैष्णो देवी (Maa Vaishno Devi) माँ वैष्णो देवी (Maa Vaishno Devi), दैवीय शक्ति और करुणा का अवतार हैं जो भारत के जम्मू और कश्मीर राज्य में पवित्र वैष्णो देवी मंदिर (Vaishno Devi Temple in Jammu and Kshmir) में पूजी जाने वाली एक श्रद्धेय हिंदू देवी हैं। सुंदर पहाड़ियों के बीच स्थित माँ वैष्णो देवी का मंदिर (Maa Vaishno Devi Mandir) उनके भक्तों के लिए अलग ही स्थान रखत

शनिदेव (Shani Dev)

शनिदेव: न्याय और कर्म के देवता (Shani Dev: Mighty God of Justice and Karma) (Jai Shani Dev) सनातन धर्म (Sanatana Dharma) में शनिदेव (Shani Dev) को न्याय का देवता माना जाता है, जो मानव जीवन पर उनके मजबूत प्रभाव और न्याय और कर्म के साथ उनके जुड़ाव के लिए जाने जाते हैं। शनिदेव, जिन्हें भगवान शनि (Bhagwan Shani) के नाम से भी जाना जाता है, एक शक्तिशाली और भयभीत करने वाले द

माँ काली (Maa Kaali)

माँ काली (Maa Kaali) मां काली (Maa Kali) को काली माता (Kali Mata), माता जगदंबा की महामाया, श्मशान की देवी, महाकाल की काली, भयानक अंधकार की देवी, माता कालिका आदि कितने ही नामों से जाना जाता है। जिस तरह काल से कोई नहीं बच सकता उसी तरह मां काली की नजर से कोई भी दुष्ट और पापी नहीं बच सकता। इस धरती पर धर्म की रक्षा करने के लिए और पापियों

हनुमानजी (Hanuman Ji)

संकट मोचन महाबली हनुमानजी (Lord Hanuman) Jai Bajrangali  हनुमानजी (Hanuman Ji) वनराज केसरी नंदन (Kesari Nandan) और माता अंजनी के पुत्र (Anjani Putra) थे। ऐसी मान्यता है कि हनुमान जी भगवान शिव (Bhagwan Shiv) के ग्यारहवें रूद्र अवतार थे, और भगवान शिव के सभी अवतारों में सबसे अधिक पराक्रमी थे। हनुमान जी की बाल लीलाओं का वर्णन अद्भुत कलाओं से परिपूर्ण है।

श्री राम (Shri Ram)

श्री राम (LORD RAM) दशरथ पुत्र श्री राम (Dashrath Putra Shri Ram) का जन्म अयोध्या में हुआ था। भगवान श्री राम रघुकुल में जन्मे थे, जिसकी परम्परा थी - रघुकुल रीति सदा चलि आई प्राण जाई पर बचन न जाई । कुछ ग्रन्थ बताते हैं की श्री राम (Shri Ram) त्रेता युग में जन्मे थे। भगवान श्रीराम की महाकाव्य रचना, रामायण, आमतौर पर सातवीं और चौथी शत

देवी दुर्गा (Durga Maa)

दुर्गा मां (Goddess Durga Maa) हिंदू धर्म में पूजे जाने वाले देवी देवताओं में मां दुर्गा (Durga Maa) का स्थान उच्च है। पुराणों के अनुसार मां दुर्गा के नौ रूप है। माता दुर्गा (Mata Durga) शक्ति कि देवी माता पार्वती के ही अनेक रूपों में से एक है। दानवों के संहार के लिए मां दुर्गा एवं इनके अन्य रूप अवतरित हुए। मां दुर्गा के नौ अवतार

कृष्ण जी (Krishna)

भगवान श्री कृष्ण जी (Lord Krishna) Radha Krishna हिंदू मान्यताओं के अनुसार श्री कृष्ण भगवान (Bhagwan Shri Krishna) विष्णु  के प्रमुख अवतारों में से एक अवतार थे। कथाओं के अनुसार श्री कृष्ण के जन्म का मुख्य उद्देश्य राजा उग्रसेन के बेटे कंस का वध करने के लिए हुआ था। कंस एक अत्याचारी शासक था, जिसने अपने पिता को ही सिंहासन से हटाकर कारा

भगवान विष्णु (Bhagwan Vishnu)

श्री हरि विष्णु भगवान (Lord Vishnu) भगवान विष्णु (Bhagwan Vishnu), हिंदू पुराणों के अनुसार सृष्टि के पालन कर्ता में से एक हैं। इनकी उत्पत्ति भगवान शिव (Bhagwan Shiv) के शरीर से मानी जाती है। भगवान विष्णु की उत्पत्ति की कथा कुछ इस प्रकार हैं- एक समय भगवान शिव ने माता पार्वती से कहा कि इस सृष्टि में एक ऐसा व्यक्ति भी होना चाहिए जो प

1 2 3

फ्री में अपने आर्टिकल पब्लिश करने के लिए पूरब-पश्चिम से जुड़ें।

Sign Up