त्योहार

राधाष्टमी (Radhashtami)

राधाष्टमी (Radhashtami) राधाष्टमी भी श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की ही तरह पवित्र त्यौहार है। श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के पन्द्रह दिन बाद भाद्रपद की शुक्ल पक्ष की अष्टमी को श्रीकृष्ण की प्रिय सखी एवं अधिष्ठात्री श्रीराधाजी का जन्म हुआ था। श्रद्धालु इस दिन अपनी आराध्य देवी राधारानी का जन्मदिन पूर्ण श्रद्धा-भक्ति के

विश्वकर्मा पूजा (Vishwakarma Puja)

विश्वकर्मा पूजा (Vishwakarma Puja) विश्वकर्मा पूजा या विश्वकर्मा जयंती महोत्सव का आयोजन भगवान विश्वकर्मा जी के प्राकट्य अवसर अर्थात् जन्मदिन के अवसर पर किया जाता है।  जन्म तिथि का विवरण  (Date of birth details of Lord Vishwakarma) विश्वकर्मा पूजा भारतीय कैलेंडर के अनुसार कन्या संक्रांति को मनायी जाती है। माना जाता है कि भगवान वि

वटसावित्री पूजा (Vatsavitri Puja)

वटसावित्री पूजा और व्रत का महत्त्व (Importance of Vatsavitri Puja): हिंदू धर्म (Hindu Dharam) में वटसावित्री पूजा (Vatsavitri Puja)और व्रत का विशेष महत्त्व है। मान्यता है कि, वट वृक्ष की पूजा करने से और वटसावित्री का व्रत रखनेवाली स्त्रियों के पति की आयु में वृद्धि होती है और पति पर आए संकट टल जाते हैं, पति को हर कार्य में सफ़लता मिलती है। इसके अत

अक्षय तृतीया (Akshaya Tritya)

अक्षय तृतीया (Akshaya Tritya) अक्षय तृतीया जिसे आखा तीज (Akha Teej) के नाम से भी जाना जाता है, हिंदू समुदायों के लिए अत्यधिक शुभ और पवित्र दिन है। यह वैशाख मास की शुक्ल पक्ष तृतीया को पड़ता है। रोहिणी नक्षत्र के दिन बुधवार के साथ पड़ने वाली अक्षय तृतीया (Akshay Tritya) को बहुत शुभ माना जाता है। अक्षय (अक्षय) शब्द का अर्थ है कभी क

हनुमान जयंती

हनुमान जयंती Hanuman Jayanti 2024 Date and Shubh Muhurt हनुमान जयंती, शब्दों से ही तात्पर्य स्पष्ट है। वह दिन जिसे श्रीराम भक्त हनुमान जी के जन्म-तिथि के रूप में मनाया जाता है। यह एक हिन्दू पर्व है और वर्ष में दो बार मनाया जाता है। जिसमें से वर्ष का पहला हनुमान जन्मोत्सव (Hanuman Janmotsav) चैत्र मास (अँग्रेज़ी कैलेंडर के अनुसार मार्च-अप्रै

हरियाली तीज (Hariyali Teej)

हरियाली तीज (Hariyali Teej) उत्तर भारतीय राज्यों, विशेष रूप से राजस्थान, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, बिहार और झारखंड में महिलाओं द्वारा तीज उत्सव (Teej Utsav) बहुत धूमधाम से मनाया जाता है।  हरियाली तीज एक विशेष तीज है क्योंकि यह श्रावण मास के दौरान आती है। सावन के आते ही बरखा की रिमझिम फुहारों से धुलकर सारी धरती हरी चुनर ओ

नाग पंचमी (Nag Panchami)

नाग पंचमी (Nag Panchami) हिंदू पंचांग के अनुसार, सावन का महीना व्रत और त्योहारों का महीना (Vrat aur Tyohar ka mahina) है। इस पवित्र महीने में शिवरात्रि (Shivratri), हरितालिका तीज (Haritalika teej), नाग पंचमी (Nag Panchami), और रक्षाबंधन (Raksha Bandhan) जैसे कई त्योहार मनाए जाते है।  सावन मास की शुक्ल पक्ष की पंचमी को नाग पंचमी (Nag Panchami) के रूप में मनाया जाता है। आमतौ

गुरु पूर्णिमा (Guru Purnima)

गुरु पूर्णिमा (Guru Purnima)  गुरु पूर्णिमा (Guru Purnima) आध्यात्मिक गुरू के प्रति कृतज्ञता व्यक्त करने का दिन है। इस दिन गुरुओं की पूजा (Guru ki Puja) करने की परंपरा है। हिंदू धर्म में गुरु को ब्रह्मा (Lord Brahma), विष्णु (Lord Vishnu) और महेश (Lord Mahesha) के समान माना गया है तो गुरु की पूजा मतलब त्रिदेव की अराधना (Tridev ki Aaradhana) है। गुरू पूर्णिमा ईश्वर स्

पूरी रथ यात्रा (Puri Ratha Yatra)

जगन्नाथ पूरी रथ यात्रा Jagannatha Puri Ratha Yatra रथ यात्रा (Puri Rath Yatra) एक बहुत बड़ा हिंदू त्योहार है और यह हर साल पुरी, ओडिशा, भारत में प्रसिद्ध जगन्नाथ मंदिर (Jagannatha Temple) में आयोजित किया जाता है। रथ यात्रा का दिन हिंदू चंद्र कैलेंडर के आधार पर तय किया जाता है और यह आषाढ़ महीने के शुक्ल पक्ष के दौरान द्वितीया तिथि को मनाया ज

बुद्ध पूर्णिमा (Buddha Purnima)

बुद्ध पूर्णिमा Buddha Purnima वैशाख माह के दौरान बुद्ध पूर्णिमा को गौतम बुद्ध की जयंती (Gautam Buddha ki Jayanti) के रूप में मनाया जाता है। गौतम बुद्ध (Gautam Buddha) जिनका जन्म नाम सिद्धार्थ था गौतम एक आध्यात्मिक शिक्षक थे जिनकी शिक्षाओं पर बौद्ध धर्म  की स्थापना (Bodh Dharam ki Sthapana) हुई थी। गौतम बुद्ध के जन्म और मृत्यु का समय अनिश्चित है।

1 2 3 4 5

फ्री में अपने आर्टिकल पब्लिश करने के लिए पूरब-पश्चिम से जुड़ें।

Sign Up